Meri sanskriti Mera Abhimaan programme organized at Anand Campus

Meri sanskriti Mera Abhimaan programme organized at Anand Campus
Meri sanskriti Mera Abhimaan programme organized at Anand Campus

शारदा ग्रुप के आनंद कैंपस के माहौल में एकता में अनेकता का अहसास हो रहा था। मौका था भारत की संस्कृति को दर्शाता हुआ एक सांस्कृतिक कार्यक्रम मेरी संस्कृति-मेरा अभिमान का। कार्यक्रम में देश के विविध क्षेत्रों से आकर काॅलेज में शिक्षा गृहण कर रहे विद्यार्थियों ने अपनी-अपनी मात्रभूमि की विशेषताओं का बखूबी चित्रण किया। कार्यक्रम का आगाज आनंद इंजीनियरिंग काॅलेज के डायरेक्डर डाॅ शैलेंद्र सिंह, कैप्टन रामपाल सिंह व फैकल्टी मनीष बाबू अग्रवाल के दीप प्रज्ज्वलन और सरस्वती वंदना से हुआ। छात्रा निवोदिता शुक्ला ने गणेश वंदना पर नृत्य प्रस्तुति दी। मिनी श्रीवास्तव ने लखनउ की नवाबी शान से लेकर उसकी मेहमान नवाजी के बारे में अवगत कराया।

बिहार की संस्कृति के बारे में अनुराग शांिडल्य ने परिचय कराया। देश की विभिन्नता को दर्शाते हुए रैंप वाॅक इंक्रेडिबिल इंडिया ने पूरब-पश्चिम, उत्तर-दक्षिण के पहनावे को प्रदर्शित करके सब का मन मोह लिया। कार्यक्रम में हंसी का तड़का लगाया रतन मिश्रा की स्टैंड-अप काॅमेडी ने। काॅमेडी ने उपस्थित दर्शकों को लोटपोट कर दिया। माहौल को थोड़ा शायराना बनाने के लिए कुलदीप तिवारी ने कविता पाठ किया और तालियां बटोरीं। इसके बाद मौका मिला विनायक को जिन्होंने अपने रैप से बैठे श्रोताओं को वाह-वाह करने पर मजबूर कर दिया। कथक नृत्य पर छात्रा रंगोली ने ऐसा ताल मिलाया कि तालियों की गड़गड़ाहट से पूरा हाॅल गूंज उठा। इसके बाद हिपहाॅप डांस से माहौल को अलग ही रूप दिया भागीरथ झा ने। दर्शकों ने उनकी प्रस्तुति को खूब सराहा। एक हास्य नाटक भी प्रस्तुत किया गया जिसमें नौकरी के लिए विद्यार्थी के द्वारा दिए गए साक्षात्कार को दर्शाया गया। इसके बाद सौम्या चैधरी ने घूमर नृत्य, व मुस्कान और राशि ने बंगला नृत्य प्रस्तुत किया।

बच्चियों को कोख में खत्म करने के मर्म को माइम द्वारा दर्शाया गया। बिहार पर गु्रप डांस प्रस्तुति ने दर्शकों को तालियां बजाने पर मजबूर कर दिया। इसके बाद रंगोली और अराधना ने हरयाणवी नृत्य करके सबको झूमने पर मजबूर कर दिया। ताडंव नृत्य प्रस्तुति ने सभी को अलग ही अहसास कराया। ड्यूट सिंगिग में अराधना और खुशी ने सबका मन मोह लिया। फिर माहौल का हल्का करने के लिए शायरी का एक और दौर हुआ। इसके साथ ही कार्यक्रम का समापन छात्र अश्विनी ने वोट आफ थैंक्स के साथ किया।